Thursday, March 10, 2011

ये देखकर आप मुस्कुराये बिना न रह सकेंगे....

मुझे गिलहरी बहुत अच्छी लगती हैं.. ये तस्वीरें देखी, अच्छी लगीं तो मैंने यहाँ लगा दीं.... 

 

31 comments:

  1. हम तो नहीं मुस्कुराये :P

    ReplyDelete
  2. क्या अभिषेक भाई आप भी.... :)
    मुझे अच्छी लगीं तो मैंने यहाँ लगा दीं...

    ReplyDelete
  3. सभी बहुत मस्त हैं| धन्यवाद|

    ReplyDelete
  4. shekhar ji aap to mahadevi varmaa ji k gillu k yaad dila diy .
    waise photo bahute achchhi khiche hai , aur gilahari khichaai bhe hai inko bade man se

    ReplyDelete
  5. गिल्लू तो मेरी पसंदीदा कहानियों में से एक है....:)

    ReplyDelete
  6. वाकई मुस्कराए हैं ....चिंता नहीं करो !
    :-)))

    ReplyDelete
  7. बचपन में महादेवी वर्मा जी ने "गिल्लु" पढाया था आपने दिखा भी
    दिया । वाकई इतनी मासूम गिलहरी को देख कर असीम आनन्द की
    प्राप्ति हुई ......

    ReplyDelete
  8. शेखर भाई आपने भी कहाँ आज इस दुष्ट प्राणी का जिक्र कर दिया !
    मैं तो सबसे ज्यादा इसी गिलहरी से तंग हूँ ! मेरे फार्म पर इनकी बादशाहत कायम है ! पूर्णतयः शान्ति वाली जगह पर बस इनकी ही आवाजें सुनाई देती हैं ! एक नंबर की ढीठ हैं ! बेखौफ तो इतनी कि अगर आराम की मुद्रा में लेटे या बैठे हैं तो ऊपर चढ़ जाती हैं ! भैया बहुत नुकसान करती हैं ... नाक में दम कर रखा है . लेकिन इतनी भोली और मासूम लगती हैं कि इन्हें सजा देने का भी मन नहीं करता :)

    ReplyDelete
  9. वाह !!! सच में क्या ???
    कभी आया तो अपने कैमरा के साथ आऊंगा.... फोटोग्राफी का तो जूनून है ही और गिलहरियों से प्यार भी....

    ReplyDelete
  10. वाकई ये गिलहती मुस्कराहट फैला रही है ।

    ReplyDelete
  11. मैं पिछले कुछ महीनों से ज़रूरी काम में व्यस्त थी इसलिए लिखने का वक़्त नहीं मिला और आपके ब्लॉग पर नहीं आ सकी!
    बहुत ख़ूबसूरत चित्र हैं ! बेहद पसंद आया! ! बेहतरीन प्रस्तुती!

    ReplyDelete
  12. कहां से ले आए ये तस्‍वीरें आप, बहुत खूब.

    ReplyDelete
  13. :) ...छुटकु है

    ReplyDelete
  14. हम भी मुस्कुरा दिये। शुभकामनायें।

    ReplyDelete
  15. अरे वाह गिलहरी क्या बात है आपकी

    ReplyDelete
  16. वाकई इतनी सुन्दर प्यारी सी गिलहरी को देख कर बड़ा अच्छा लगा :)

    ReplyDelete
  17. Mujhe bhi gilhari bahut pasand hai Same pinch :)
    Bahut mast laga bhaiya ye sare photos mujhe mail kar denge plzzz

    ReplyDelete
  18. मुझे ठीक से याद नहीं है शायद.. मगर महादेवी वर्मा जी ने भी गिलहरी पर कुछ लिखा था. बचपन में पढ़ा था दीदी के सिलेबस में था.

    ReplyDelete
    Replies
    1. Gillu jise rui ke fahe se dudh pilaya that unhone.

      Delete
  19. गिल्लू याद आ गयी

    ReplyDelete

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...